This post is also available in: English

जीरे का पानीजीरा भारतीय व्यंजनों मे इस्तेमाल होने वाला एक आम मसाला है, (भारत में इसे जीरा के नाम से भी जाना जाता है) जो अच्छे स्वाद के साथ बहुत सारे स्वास्थ्य वर्धक फ़ायदे भी देता है. अजमोद परिवार(parsley family) के सदस्य, जीरे(Cumin seeds) का इस्तेमाल औषधीय पौधे कि तरह और आयुर्वेदिक इलाज भी में भी किया जाता है. भारतीय हजारों वर्षों से सूप, करी, कोरम या कई अन्य प्रकार के पारंपरिक पकवान मे जीरे का इस्तेमाल करते आए है. भारत, जीरे की अत्याधिक खपत करने के साथ ही जीरा का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक(exporter) भी है.

क्या जीरा वास्तव में वजन घटाने में मदद करता है? आईए इस बारे में चर्चा करते है.

जीरा और मोटापा – जीरे का पानी वजन कम करने में कैसे मदद करता है?

जीरा उन फायदेमंद मसालो में से एक है जो अन्य कई फ़ायदों के साथ मोटापा कम करने में भी मदद करता है.

1. अलगाव (डिटॉक्सिफिकैशन) :

जीरा एंटीऑक्सिडेंट्स/ऑक्सीकरणरोधी से भरपूर होता हैं, जो शरीर से जहरीले तत्वों (toxic) को निकालने में मदद करता हैं. यह आंतरिक अंगो कि सफाई कर उन्हें मजबूत भी बनाता है. जीरे के पानी पीने से आपके लिवर /जिगर में पित्त के उत्पादन में मदद मिलती है, जो गैस/वायु एवं बदहज्मी को कम करने में भी फायदेमंद है.

2. पाचन शक्ति बढ़ाता है :

जीरे का पानी पाचनक्रिया को बेहतर बनाने में मदद कर, पाचनतंत्र को स्वस्थ रखता है. यह मर्म किण्वको (enzymes) को स्रावित कर उन्हें सक्रिय करने में मदद कर, वसा/चरबी, कार्बोहाइड्रेट और शर्करा (glucose) को विभाजित करता है, और सुबह की बीमारीयां, मितली (nausea) और दस्त को भी रोकता हैं.

3. चयापचय(metabolism) बढ़ाता है और वसा / चर्बी को जलाता है :

जीरा चर्बी को कम करने वाला असरकारक पदार्थ है, जो चयापचय कि दर को बढ़ाने में मदद करता है. यह मूलभूत रूप से यह पेट की चर्बी(फैट) को कम करता है, जो वजन कम करने और मोटापे को कम करने में भी फायदेमंद है.

4. भूख कम करता है :

जीरे का इस्तेमाल करने से आपको भूख को कम करने में मदद मिलेगी, क्योंकि यह आपके पेट को लंबे समय तक भरा रखता है, और इस तरह मोटापा कम करने में मदद करता है.

5. खून को शुद्ध करता है:

यह विषेले द्रव्यों को नष्ट करने (detoxification) में मदद करता है, इससे पाचन में सुधार होता है और इस प्रकार यह खून को शुद्ध करता है.

तो आप देख सकते हैं कि मोटाप कम करने में जीरा कई तरीकों से फायदेमंद है, यही कारण है कि यह हर वजन घटाने वाले आहार में अनिवार्यक (बहुत जरूरी) बनता जा रहा है.

 

जीरे के पोषणतत्वो का तथ्य / पोषणतत्वो कि सूचि (Nutrition facts)

प्रति 100ग्राम जीरा के पोषणतत्व

  • कैलोरी/ उष्मांक/ : 375
  • फैट/चरबी /वसा : 22 ग्राम
  • सोडियम: 168 मिलीग्राम
  • पोटेशियम: 1788 मिलीग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट : 44 ग्राम
  • प्रोटीन: 18 ग्राम
  • फाइबर: 11 ग्राम
  • कैल्शियम: 931 मिलीग्राम
  • लौह :(iron) 66.36 मिलीग्राम
  • मैग्नीशियम: 931 मिलीग्राम
  • फास्फोरस: 499 मिलीग्राम
  • जस्ता(zink): 4.8 मिलीग्राम

 

यह पोषणतत्व चर्बी(फैट) को कम करने में कैसे मदद करते हैं?

  • मैग्नीशियम लचीलेपन को सुधारने में मदद करता है और अच्छी नींद देता है। यह मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने में भी मदद करता है.
  • कैल्शियम हड्डियों को मजबूत करने और वजन को नियंत्रित करने में मदद करता है.
  • विटामिन ए और विटामिन सी विषेले द्रव्यों को नष्ट करने (detoxification) में मदद करते है, और रोगप्रतिकारक शक्ति (immunity) में सुधार करते है.
  • पोटेशियम शारीरिक शक्ति को सुधारने में मदद करता है और मानसिक तंदुरुस्ती को बढ़ावा देता है.
  • फास्फोरस पाचन के सुधार के साथ – साथ दांतों और हड्डियों को मजबूत करने में सहायता करता है.

 

वजन कम करने के लिए जीरे का उपयोग और घरेलू नुस्खे?

हम भारतीय बहुत से तरीकों से जीरे का इस्तेमाल करते है, लेकिन कुछ विशेष व्यंजन हैं जो वजन कम करने में मुख्य रूप से मदद करते हैं.

1. प्रथम व्यंजन – जीरा का पानी

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए: 2 बड़े चम्मच जीरा, 1 लीटर पानी और एक मर्तबान या जार.

तैयारी के विधि
Step 1 एक जार या मर्तबान में 1 लीटर पानी में 2 बड़े चम्मच जीरा डालें.
Step-2 अब किसी ढक्कन से जार को ढकें.
Step-3 इसे रातभर रहने दें ताकि जीरा पानी में अच्छे से अतिपुरित (soak) हो जाए.

आपका जीरे का पानी इस्तेमाल करने के लिए तैयार है. इसे सुबह खालीपेट पीने से ज्यादा फायदा मिलेगा.

2. द्वितीय व्यंजन – जीरा, धनिया, सौंफ़ के बीज कि प्रसिद्ध चाय

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए : 1 चम्मचभर जीरे के बीज, धनिया बीज, सौंफ़ बीज और 4 से 5 कप पानी

तैयारी के विधि
Step 1 : 4 से 5 कप पानी में 1 चम्मचभर जीरे के बीज, धनिया के बीज, और सौंफ़ के बीज को डालें और मिलाएँ.
Step-2 इसे लगभग 4 से 5 मिनट के लिए तेज आँच पर रखें और उबाल लें.
Step-3 मिश्रण को छाने और आप कि जीरा चाय पीने के लिए तैयार है.

जीरा, धनिया, सौंफ़ चाय

 

3. तृतीय व्यंजन – जीरा पाउडर वाला दहीं

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए: जीरा पाउडर और 1 कटोरा (150ग्राम ) बिना मलाई वाला (फेट रहित) दही.

तैयारी के चरण /विधि

1 कटोरा (150 ग्राम ) बिना मलाई वाले (फेट रहित) दही में 1 बड़ा चम्मच जीरा पाउडर डालें और अच्छे से घुमाएँ और मिलाएँ। यह जीरा पाउडर वाले दहीं को छोटी छोटी मात्रा में लें.

उत्तरीय भारत में यह व्यंजन बहुत आम है, क्योंकि जीरा पावडर दही के स्वाद को खूब बढ़ाता है.

एनआईएच (राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान) द्वारा 88 अधिक वजन वाली / मोटापे वाली महिलाओं पर किए गए अनुसंधान के मुताबिक दही में जीरा डालने से वजन, मोटापे, बीएमआई, कमरपरिधि, चरबी को कम करने में काफी प्रतिशत तक मदद मिलती है. आप यहां पूर्ण शोध देख सकते हैं “

 

4. चौथा वयंजन – नींबू और अदरक के साथ जीरा

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए: जीरा, पानी, 1 नींबू और 1 टुकड़ा अदरक

तैयारी के चरण /विधि
Step-1 : पानी को उबालें और इसमें अदरक को कस कर डालें.
Step-2 : इस मिश्रण को २ मिनट के लिए उबाल लें और फिर इसे गैस से उतारकर छान लें.
Step-3 : पानी में नींबू और जीरा डालें. यह मिश्रण को पूरें दिन के दौरान थोड़ा थोड़ा पिएँ.

 

जीरे के अन्य स्वास्थ्य सम्बंधित लाभ और औषधीय गुण

मोटापा घटाने के साथ साथ जीरा बहुत से स्वास्थ्यवर्धक लाभ देता है.

  1. यह त्वचा के रोग और विकार जैसे कि फोड़े, मुँहासे और छालरोगों (psoriasis) के इलाज में लाभदायक है. जीरे के बीज में विटामिन ई है जो आपकि त्वचा को स्वस्थ रखता है. कवक विरोधी (anti-fungal) गुण त्वचा संक्रमण ( skin infection) को रोकने में मदद करते हैं. यह त्वचा को चमकदार रखता है.
  2. जीरे में ऐसे कई पोषणतत्व और विटामिन हैं जो बालों को गिरने से रोकते हैं. यह प्रभावी रूप से बालों के झड़ने का इलाज करता है और बालों को पतला होने से बचाता है.
  3. जीरे में लोहेतत्व (iron) उच्च मात्रा में होता है, जो खून की कमी (anemia) को दूर करता है और लाल रक्तकणों (hemoglobin) को बढ़ाता है.
  4. जीरे में कर्कट रोग विरोधी (anti-carcinogenic) गुण होते हैं जो कि कैंसर, विशेषकर बृहदान्त्र (colon) और स्तन (breast) कैंसर से लड़ने में मदद करते हैं.
  5. यह कुशलतापूर्वक सर्दी को ठीक करता है और गुर्दा(kidney) को भी स्वस्थ रखता है. जीरा बीज रक्त शर्करा (blood sugar) के स्तर को नीचा रखता है.
  6. बाल गिरने के साथ, यह रूसी को रोकता है और बालों को लंबे और चमकदार बनाता है.
  7. जीरे में उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट त्वचा की अन्य समस्याएं जैसे कि झुर्रियां, दाग और त्वचा के ढीलापन में लाभदायक है साथ ही बुढ़ापे से भी बचातें हैं.
  8. यह प्रभावी रूप से फोड़े का इलाज करता है और शरीर को अंदर से साफ करता है.
  9. यह खुजली के इलाज में मदद करता है और इससे ठंडक भी मिलती है.

 

काले जीरे के तेल के फ़ायदे और नुकसान :

काले जीरे के तेल को काले बीज के तेल के नाम से भी जाना जाता है और यह कई स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज में लोकप्रिय है.

  • इसमें मोटापा कम करनेवाले (anti-obesity) गुण हैं जो वजन कम करने और पेट कि चर्बी (वसा) को कम करने में मदद करते हैं। यह भूख कम कर देता है और शर्करा अवशोषण (glucose absorption) में सुधार करता है.
  • यह प्रभावी रूप से मधुमेह का इलाज करता है यह यकृत कोशिकाओं की मधुसूदनी(insulin) की संवेदनशीलता को बढ़ाता है और प्रकार १ और प्रकार २ मधुमेह (Type -1 & 2 diabetes) को रोकने में मदद करता है.
  • यह स्वस्थ त्वचा को बढ़ावा देता है और इसे चमक देता है.
  • यह बालों के झड़ने कि समस्या से लड़ता है और बालों को पतला होने से साथ ही रूसी को भी रोकता है.
  • यह कैंसर से लड़ता है जैसे कि बृहदान्त्र (colon) कैंसर, फेफड़े का कैंसर, मस्तिष्क ट्यूमर, इत्यादि.
  • यह एलर्जी और संक्रमण (infection) को रोकता है और अस्थमा से राहत देता है.

काले जीरे का तेल

 

काले जीरा के तेल के दुष्प्रभाव :

1. यह रक्तचाप(blood pressure) को कम कर सकता है. यह मतली, चक्कर आना, थकान और मानसिक तनाव जैसी समस्याएं पैदा कर सकता है.
2. यह गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय की चिकनी पेशी के संकुचन को प्रभावित कर सकता है. (contractions of the uterus during pregnancy).
3. इससे कई एलर्जी जैसे कि होंठों का सूजना, उल्टी, दस्त, मरोड़ और जकड़न आदि भी हो सकती है

 

जीरे के बीज और तेल कहाँ से खरीदें?

आप ऑनलाइन किराने का सामान या ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइटों से जीरे के बीज और तेल खरीद सकते हैं. गुणवत्ता और ताजगी को आश्वस्त करने के लिए, आप अपने पास के बाज़ार या किराने की दुकान से इसे प्राप्त कर सकते हैं.